कोशिश

कोशिश कर रहा हूँ मैं
तुम्हे भूलने की।
जीवन शून्य को भरने की
उत्पन्न हुआ है जो तुम्हारे चले जाने से।


कोशिश कर रहा हूँ मैं
आगे बढ़ने की।
उन स्मृतियों को मिटानें की
निर्मित हुई थी जो हमारे मिलन से।

कोशिश कर रहा हूँ मैं
कुछ नया तलाशने की।
मुझमें बसी तुमको मुझसे अलग करने की
बस गई थी जो बिन कहे मेरी हर सांस में।

कोशिश कर रहा हूँ मैं
टूटे दिल को जोड़ने की।
बिखर गया था जो अनगिनत टुकड़ों में
तुम्हारे इनकार के बाद।



कोशिश कर रहा हूँ मैं,
अकेले खुश रहने की,
अपनी हर पीड़ा को छिपाने की
प्रकट हो जाती जो तुम्हारें स्मरण मात्र से।

#हिंदी_ब्लोगिंग 

  •  

1 comment: