ऐसे करें खाद्य पदार्थ संबंधी कंपनियों की शिकायत

बात नामी-गिरामी रेस्टोरेंट की करें या फिर पैकेट बंद खाने के विभिन्न आइटम्स बेचने वाली देसी-विदेशी कंपनियों की! भारत में ऐसी ख़बरें अक्सर ही देखने-पढ़ने को मिल जाती है कि अमुक कम्पनी के खाद्य पदार्थ में मरा हुआ कॉक्रोच, कीड़े वगेरा मिले मगर जानकारी के अभाव में एवं पश्चिमी देशों की तुलना में हमारें देश भारत में उपभोगता संरक्षण के कमज़ोर नियमों के कारण आम उपभोगता ऐसे मामलों में कुछ खास कार्यवाही कर ही नहीं पाता। हालाँकि ऐसा नहीं है कि भारत में उपभोगता के अधिकार को लेकर कोई उपयुक्त नियम नहीं है. मगर जानकारी और जागरूकता के अभाव में अक्सर ऐसे मामले घर के अन्दर ही रफा-दफा हो जाने है। 

जबकि पश्चिमी देशों में तो ऐसी घटनाओं से वहां की जनता एवं उपभोगता संरक्षण, उपभोगता अधिकारों के जानकार बड़ी कड़ाई के साथ निपटते हैवहीँ भारत में ज़्यादातर उपभोगता बहुत हुआ तो कंपनी के द्वारा फ़ूड पैक पर दी गयी ईमेल आई डी पर या तो ईमेल कर अपना गुस्सा निकल लेते है या फिर दौबारा उस कंपनी के सामान खरीदने से तौबा करके। 

आइये आपको बताते है भारत में ऐसे मामलों को लेकर आप कहां शिकायत कर सकते जहां से आपको सही मायनो में न्याय मिल सके और खाद्य पदार्थों से जुड़े ऐसे कौन से मामले है जिन्हें काफी गंभीरता से हर उपभोगता को लेना चाहिए। 
·        
    यदि कोई दुकानदार आपको एक्सपायरी सामान बेच देता है तब

·         यदि कोई दूकानदार आपको दूषित, अशुद्ध खाद्य सामान बेच दे तब


·         यदि कोई रेस्टोरेंट दुकानदार आपको मिलावटी खाद्य सामग्री बेच दे तब

·         यदि कोई आपको खबर पैकिंग वाला सामान बेच दे तब

·         यदि सामान की पैकिंग रेपर पर सामान बनाने वाली कंपनी से जुड़ी जानकारी एवं सामान बनने में इस्तेमाल की गयी सामग्री की पूर्ण जानकारी, उसके बनने की तारीख एवं एक्सपाईरी डेट न प्रकाशित हो या उसके साथ कोई छेड़-छाड़ की गयी हो तब

·         आमतौर पर सामानों पर दी जाने वाले निर्देश चेतावनी यदि उपलब्ध न हो तब

उपभोगता दिए गए लिंक के द्वारा https://foodlicensing.fssai.gov.in/cmsweb/ या गूगल प्ले स्टोर से FSSAI के Food Safety Connect application की सहायता से अपनी शिकायत रजिस्टर्ड कर सकते है। 




              

No comments