बिना मिनिमम बैलेंस की शर्त के कैसे खुलवाए एस बी आई में अपना खाता

नोटबंदी की मार झेल रहे छोटे मझोले कारोबारी एवं परिवारों को इस साल दूसरा जो सबसे बड़ा झटका लगा, वो था देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक एस बी आई द्वारा ग्राहकों के खाते पर मिनिमम बैलेंस रखने की शर्त एवं ए टी एम से निकासी एवं अन्य इस्तेमाल की सीमा पर भी भारी चार्ज एवं टैक्स लगाना आपको बता दें की देश के इस सबसे बड़े सरकारी बैंक के खाताधारियों की संख्या 31 करोड़ से अधिक है 

ऐसे में कई लोग जो इस प्रकार के नियमों से खासे नाराज़ है उन्हें ये भी समझ नहीं आ रहा कि क्या करे? क्या वो एस बी आई का खाता बंद कर किसी और बैंक में खता खुलवा लें या फिर बेंकिंग सेवा से ही तौबा कर ले क्योंकि क्या पता जो शर्ते अभी एस बी आई ने लगाई है कल को वो बाकि अन्य बैंक भी लगाने लग जाए तो ग्राहक कहाँ जाए हालाँकि उड़ते-उड़ाते खबर ये है की एस बी आई अपने मिनिमम बैलेंस रखने के निर्णय पर पुनर्विचार कर इसे दौबारा परिवर्तित कर सकता है मगर अभी ये खबर सिर्फ एक संभावना भर ही है ऐसे में एक एस बी आई बैंक के ग्राहक के पास ऐसे कौन से विकल्प बचते है जिससे वो अपने बैंक के ग्राहक भी बने रहे एवं मिनिमम बैलेंस वाली शर्त से भी आइये जानते है

एस बी आई में साधारण सेविंग एकाउंट के अलावा ऐसे भी सेविंग एकाउंट खुलवाए जा सकते हैजिसमें ग्राहक को किसी तरह का मिनिमम बैलेंस नहीं रखना पड़ता. आप यदि चाहे तो अपने सेविंग एकाउंट को इस एकाउंट में हस्तांतरित भी करवा सकते है

ये एकाउंट मुख्यतः तीन प्रकार के है अपने एकाउंट को इनमें से किसी भी एकाउंट में हस्तांतरित करने के लिए आपको एस बी की उस शाखा में संपर्क कर एक आवेदन देना होगा

बेसिक सेविंग डिपोजिट एकाउंट-


ये सेविंग एकाउंट भी साधारण सेविंग एकाउंट की तरह ही है जिसमें आपको सेविंग एकाउंट वाली सभी सुविधाएँ एवं सामान्य व्याज दर भी मिलेगी साथ ही इस एकाउंट के साथ आपको रुपे डेबिट कार्ड भी दिया जाएगा जिसका इस्तेमाल आप खरीदारी वगेरा में कर सकते है यहाँ आपको बता दे कि रुपे डेबिट कार्ड पर आपको किसी प्रकार का सालाना शुल्क भी नहीं देना पड़ता

स्माल एकाउंट-

 

ये एक ऐसा सेविंग एकाउंट है जिसे आप बिना के वाई सी के बहुत ही कम दस्तावेजों की सहायता से खुइलवा सकते है इसमें भी मिनिमम बैलेंस वाली कोई शर्त नहीं है हालाँकि इसमें आप 50 हज़ार से ज्यादा बैलेंस भी नहीं रख सकते एवं सालाना 1 लाख से ज्यादा का लेन देन भी सिर्फ सशर्त ही हो सकता है


जनधन खाता-


जनधन खाता प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी की कई महत्वकांक्षी योजनओं में से एक है यदि आप जनधन योजना के तहत अपना खता खुलवाते है तो आपको अपने खाते में किसी प्रकार की न्यूनतम राशि रखने की कोई ज़रूरत नहीं है साथ ही योजना के अनुसार खाताधारी को लाइफ इंशोरेंस भी मिल जाता है

सैलरी एकाउंट-


हालाँकि ये एकाउंट सब के लिए खुलवा पाना संभव नहीं है क्योंकि सैलरी एकाउंट हमेशा किसी कंपनी द्वारा अपने कर्मचारियों के लिए खुलवाया जाता है मगर आपकी जानकारी के लिए बता दें की इस तरह के सेविंग एकाउंट में भी ग्राहक पर मिनिमम बैलेंस रखने की कोई शर्त एस बी आई द्वारा नहीं लगाई गयी है हालाँकि यदि आप की नौकरी किसी कारणों से छूट जाती है और आप अपने सैलरी एकाउंट में 3 माह तक कोई लेन देन नहीं करते तब आपका खाता स्वतः ही सामान्य सेविंग एकाउंट में परिवर्तित हो जाता है एवं इसमें मिनिमम बैलेंस रखने सहित बाकि शर्ते भी अपने आप ही लागू हो हो जाती है     
          

  

No comments